बॉबी देओल का खूबसूरत आश्रम, पहले था एक खंडहर, एक खंडहर से महल बनने की सबसे बड़ी कहानी -प्रकाश झा की जुबानी

Facebook
Twitter
WhatsApp
Email
Print

निर्माता और निर्देशक प्रकाश झा की एक सफल श्रृंखला ‘आश्रम’ दर्शातीं है एक आश्रम जिस में आस्था का अंधविश्वास हैं, साजिशे हैं और बाबा निराला का बनाया कानून और उनका ही न्याय हैं।

जिस आश्रम की खूबसरती देख आंखे चौधिया गयी क्या आप जानते हैं कि ये आश्रम , अयोध्या में स्थित एक जर्जर अवस्था मे राज सदन नाम का एक विशाल महल था। जो आश्रम की शूटिंग के पहले एक खण्डहर था। लेकिन प्रकाश झा की दूरदृष्टि और प्रबलता ने एक खंडहर को फिर से महल बना दिया । हालांकि इस महल में शूट करना बहुत मुश्किल था क्योंकि महल की अवस्था बहुत ही दयनीय थी जहाँ पर जंगली झाड़िया, बंदरो और कबूतरों का घर और टूटी फूटी दीवारे थी। 1 महीने तो इस महल की सफाई में लगे और करीब 4-5 महीने लग गए तब जाकर महल की खूबसूरती लौट सकी।

Also read this  दिल ब्लो करदा सोंग्स से बॉलीवुड में एंट्री हुई बाबा हर्षित और ब्यूटी सिंह राजपूत की

राज सदन महल पर प्रकाश झा कहते हैं कि ” राज सदन में मुझे सारी संभावनाएं नजर आयी। जिस तरह की कल्पना हमने की थी सब वहां आसानी से सेट हो रही थी। वो बहुत ही जर्जर अवस्था मे था लेकिन ये महल बहुत ही खूबसूरत था।हमने सोचा कि कोई भी धर्म या पंचायत से जुड़ा हुआ रंग का इस्तेमाल नही होगा , हमने प्रकृति को समझा और उसकी विकृति को समझा और फिर हमने रंगों का चुनाव किया । महल भले की जर्जर अवस्था मे था लेकिन हाथी तो हाथी होता हैं। अगर ये पैलेस नही होता तो शायद आश्रम इतना सुंदर नही हो पाता ” ।

Also read this  ज़ी5 ने की 'सूरज पे मंगल भारी' के डिजिटल प्रीमियर की घोषणा!

प्रकाश झा द्वारा निर्देशित, यह अपराध नाटक 11 नवंबर 2020 से लाइव होगा, केवल MX Player पर।

Related Posts